के.एम.वी. प्रतिष्ठित आउटलुक मैगज़ीन रैंकिंग के अनुसार एक बार फिर बना नंबर 1 कॉलेज

ऐसी टॉप रैंकिंगस के.एम.वी. द्वारा छात्राओं को प्रदान की जाती वैश्विक स्तरीय शिक्षा के कारण ही संभव है : प्रो. अतिमा शर्मा दिवेदी

जालंधर (मोहित अरोड़ा) :- भारत की विरासत एंव ऑटोनॉमस संस्था, कन्या महा विद्यालय, जालंधर ने बेमिसाल सफलताओं का सिलसिला जारी रखते हुए एक बार फिर आउटलुक मैगज़ीन रैंकिंगस 2024 में टॉप रैंकिंग हासिल कर पंजाब का नंबर 1 कॉलेज बनकर एक मिसाल कायम की है. कन्या महा विद्यालय की सराहनीय उपलब्धियों में बी.बी.ए., कॉमर्स, फैशन डिज़ाइनिंग और जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में एक बार फिर पंजाब के विभिन्न कॉलेजों में नंबर 1 रैंकिंग हासिल करने के साथ ही आर्टस में पंजाब में से नंबर 2 रैंक हासिल कर अपनी सफलता का इतिहास दोहराया है. इस शानदार उपलब्धि के बारे में अधिक जानकारी देते हुए विद्यालय के प्राचार्या प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने कहा कि के.एम.वी. को ऑटोनॉमस कॉलेज का दर्जा प्राप्त कर पूरे पंजाब में पहला और एकमात्र महिला ऑटोनॉमस कॉलेज होने का गौरव प्राप्त हुआ है जिससे यह उच्च शिक्षा संस्थानों में सबसे आगे है और संस्थान द्वारा नई शिक्षा नीति के अनुसार शिक्षा प्रणाली में कई महत्वपूर्ण सुधार भी शुरू किए गए हैं. इसके साथ ही कन्या महा विद्यालय नई शिक्षा नीति को लागू करने में अग्रणी ही नहीं है बल्कि अन्य शैक्षणिक संस्थाओं के लिए आदर्श भी है.

उन्होंने कहा कि इन टॉप रैंकिंगस की उपलब्धि इस बात की गवाही देती है कि कन्या महा विद्यालय गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के साथ-साथ उच्च शिक्षा में उत्कृष्टता एवं सकारात्मक भविष्य के लिए प्रतिबद्ध संस्थान है. के.एम.वी. छात्राओं को फाउंडेशन कोर्स, मोरल एजुकेशन, पर्सनेलिटी डेवलपमेंट, जेंडर सेंसटाइजेशन, सेल्फ डिफेंस, सोशल आउटरीच, इनोवेशन, एंटरप्रेन्योरशिप तथा क्रिएटिव थिंकिंग एवं जाब रेडीनेस जैसे कार्यक्रमों के साथ जीवन कौशल के लिए तैयार करता है. इसके अलावा, के.एम.वी. ने अपने विभिन्न शिक्षण और सीखने के प्रयासों के लिए डिजिटल तकनीक का अधिकतम उपयोग किया है और भारत और विदेशों में छात्राओं के लिए प्लेसमेंट के अवसरों पर भी काम करता है एवं होटल मैनेजमेंट, बायो टेक्नोलॉजी एवं फिज़िक्स की कई छात्राओं को प्रति वर्ष 70 लाख के पैकेज पर यू.एस.ए. में प्लेसमेंटस भी प्राप्त हुई है. उन्होंने 21वीं सदी के कौशल की मांगों को पूरा करने के लिए पाठ्यक्रम को अपग्रेड करने में भारत और विदेशों के शिक्षाविदों के साथ-साथ के.एम.वी. के इंडस्ट्री पार्टनर्स के योगदान को भी स्वीकार किया. इस अवसर पर प्रिंसिपल के.एम.वी. ने इस असाधारण उपलब्धि में योगदान देने वाले शिक्षकों, कर्मचारियों और पूर्व छात्राओं को उनके अनुकरणीय प्रयासों और कड़ी मेहनत के लिए बधाई दी. प्रिंसिपल द्विवेदी ने इस बात पर ज़ोर दिया कि के.एम.वी. हमेशा से ही अपनी छात्राओं शिक्षा के उच्चतम मानकों को प्रदान करने के लिए अपने समर्पण के लिए नंबर एक संस्थान के रूप में अपनी रैंकिंग का हकदार रहा है।

Check Also

सेंट सोल्जर कॉलेज (कोएड) के छात्र छू रहे हैं बुलंदियां

जालंधर (अजय छाबड़ा) :- सेंट सोल्जर कॉलेज (कोएड) में बढ़ रही रोज़गार की संभावनो और …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *