एसएसएस-एनआईबीई ने दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन किया

जालंधर (ब्यूरो) :- सरदार स्वर्ण सिंह राष्ट्रीय जैव ऊर्जा संस्थान (एसएसएस-एनआईबीई), कपूरथला, एनटीपीसी अधिकारियों के लिए “थर्मल पावर प्लांट अनुप्रयोगों के लिए कृषि-बायोमास नमूनाकरण और लक्षण वर्णन तकनीकों पर विशेष व्यावहारिक प्रशिक्षण सह कार्यशाला” विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का आयोजन कर रहा है। कार्यक्रम का उद्घाटन एसएसएस-एनआईबीई के महानिदेशक डॉ. जी श्रीधर, मुख्य अतिथि सतीश उपाध्याय, मिशन निदेशक, समर्थ मिशन, विशिष्ट अतिथि वी चंद्रशेखरन, महाप्रबंधक, एनटीपीसी ने मां सरस्वती की पूजा के साथ किया। डॉ. श्रीधर ने फसल अवशेषों की प्रचुर उपलब्धता के कारण भारतीय संदर्भ में बायोमास आधारित बिजली उत्पादन की प्रासंगिकता और महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने बायोमास आधारित बिजली उत्पादन गतिविधियों का समर्थन करने के लिए एसएसएस-एनआईबीई द्वारा किए जा रहे शोध कार्य और बायोमास सह-फायरिंग पर थर्मल पावर प्लांट्स के सामने आने वाली कुछ चुनौतियों के लिए आवश्यकता-आधारित समाधानों को भी रेखांकित किया। सतीश उपाध्याय ने अपने संबोधन में समर्थ मिशन के लक्ष्यों और उद्देश्यों तथा थर्मल पावर प्लांट में फसल अवशेष बायोमास के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए मिशन द्वारा किए जा रहे कार्यों पर प्रकाश डाला। उन्होंने उपस्थित लोगों को कोयले के साथ सह-फायरिंग के लिए बायोमास के उपयोग की वर्तमान सफलता तथा देश में स्थिरता और नवाचार के लिए इसकी भूमिका के बारे में जानकारी दी। उन्होंने मिशन की सफलता के लिए अनुसंधान एवं विकास तथा मानकीकरण की भूमिका पर भी प्रकाश डाला। चंद्रशेखरन ने अपने संबोधन में परीक्षण पद्धति और मापदंडों के लिए परीक्षण में एकरूपता के महत्व पर जोर दिया। दोनों अतिथियों ने बायोमास क्षेत्र के लिए उच्च गुणवत्ता वाले अनुसंधान एवं विकास में एनआईबीई की भूमिका को स्वीकार किया और बताया कि कैसे यह व्यावहारिक कार्यशाला एनटीपीसी अधिकारियों के लिए बायोमास नमूनाकरण और इसके लक्षण वर्णन में सहायक होगी। एसएसएस-एनआईबीई के वैज्ञानिक-सी डॉ. कुंवर पाल ने धन्यवाद ज्ञापन दिया। कार्यशाला में देशभर से एनटीपीसी के अधिकारियों ने हिस्सा लिया। कार्यशाला के वक्ताओं में आईआईटी-आईएसएम धनबाद, थापर यूनिवर्सिटी आदि के प्रतिष्ठित शिक्षक शामिल थे। इस कार्यशाला के सफलतापूर्वक समापन पर सभी प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र वितरित किये जायेंगे।

Check Also

ਪੰਜਾਬ ਸਰਕਾਰ ਦੀ ਹਰਿਆਵਲ ਮੁਹਿੰਮ ਤਹਿਤ ਮੋਗਾ ਪੁਲਿਸ ਵੱਲੋਂ ਇੱਕੋ ਦਿਨ ਸਰਕਾਰੀ ਇਮਾਰਤਾਂ ਵਿੱਚ ਲਗਾਏ 1210 ਪੌਦੇ

ਐਸ.ਐਸ.ਪੀ. ਵਿਵੇਕ ਸ਼ੀਲ ਸੋਨੀ ਨੇ ਪੁਲਿਸ ਲਾਈਨ ਮੋਗਾ ਵਿੱਚ ਰੁੱਖ ਲਗਾ ਕੇ ਦਿੱਤਾ ਵਾਤਾਵਰਨ ਨੂੰ …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *