के.एम.वी. में 29 जुलाई से 2 अगस्त 2024 तक डी.एस.टी., भारत सरकार के इंस्पायर कैंप का होगा आयोजन

इस प्रतिष्ठित कैंप के लिए मेजबान के रूप में के.एम.वी. का चयन शैक्षणिक उत्कृष्टता के प्रति संस्था की प्रतिबद्धता और साइंटिफिक कम्युनिटी में इसके महत्वपूर्ण योगदान को रेखांकित करता है: प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी

जालंधर (मोहित अरोड़ा) :- भारत की विरासत एवं ऑटोनॉमस संस्था, कन्या महा विद्यालय, जालंधर के द्वारा बेहद गर्व से प्रतिष्ठित इंस्पायर ( इन्नोवेशन इन साइंस परस्यूट फॉर इंस्पायर रिसर्च) कैंप की मेज़बानी के लिए आधिकारिक मंजूरी की घोषणा की गई है. डिपार्टमेंट ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (डी.एस.टी.), भारत सरकार के तत्वावधान में यह पांच दिवसीय कैंप 29 जुलाई से 2 अगस्त 2024 तक आयोजित होगा. इस संबंध में और अधिक जानकारी देते हुए विद्यालय प्रिंसिपल प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने बताया कि इंस्पायर विज्ञान और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में युवा प्रतिभाओं को बढ़ावा देने और उनको तैयार करने के लिए डी.एस.टी. द्वारा शुरू किया गया एक प्रमुख प्रोग्राम है. इस का उद्देश्य छात्रों को वैज्ञानिक अनुसंधान और नवाचार में करियर बनाने के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित करना है. इस प्रतिष्ठित कार्यक्रम के लिए मेज़बान के रूप में के.एम.वी. का चयन शैक्षणिक उत्कृष्टता के लिए संस्था की प्रतिबद्धता और वैज्ञानिक कम्युनिटी में इसके महत्वपूर्ण योगदान को रेखांकित करता है. दसवीं कक्षा की बोर्ड-2023 परीक्षाओं में टॉप 1% छात्र जो वर्तमान में XI में विज्ञान विषय में शिक्षा हासिल l कर रहे हैं तथा जिन्होंने पहले इसी तरह के कैंप में भाग ना लिया हो वह इसमें भागीदारी कर सकेंगे. पंजाब स्कूल एजुकेशन बोर्ड के लिए एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया दसवीं बोर्ड की परीक्षा में से 94% अंक, सी.बी.एस.ई. छात्रों के लिए – मैट्रिक परीक्षा में न्यूनतम सी.जी.पी.ए. ए1 (96.0%) और आई.सी.एस.ई. छात्रों के लिए – मैट्रिक परीक्षा में न्यूनतम आवश्यक प्रतिशत 97.83% है. इस पांच दिवसीय कैंप में व्याख्यान, इंटरेक्शंस, फिजिक्स, केमिस्ट्री, और गणित विषयों पर आधारित वर्कशॉप्स, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताएं और एक्सप्लोरेशन शामिल होंगे. आगे बात करते हुए प्रो. द्विवेदी ने कहा कि इंस्पायर साइंस कैंप के मेंटर्स अकादमी फेलो, भटनागर पुरस्कार विजेता और अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय ख्याति के वैज्ञानिक हैं. यह प्रोग्राम विज्ञान की सभी धाराओं एवं वैज्ञानिक सफलता की कहानियों और नवाचार से संबंधित व्याख्यानों के माध्यम से मेंटर्स और छात्रों के बीच स्वस्थ बातचीत का आधार होने के साथ उनकी जिज्ञासा को उत्तेजित कर उन्हें कम उम्र में विज्ञान में अपना करियर बनाने के लिए आकर्षित करेगा. छात्रों को ज्यादा से ज्यादा एक्सपोजर दिया जाएगा क्योंकि आमंत्रित फेलो प्रोग्राम में एक विशेष सेट में व्याख्यान और व्यक्तिगत इंटरैक्टिव सत्रों के माध्यम से छात्रों के साथ बातचीत करेंगे. देश भर के प्रमुख संस्थानों के प्रसिद्ध वैज्ञानिक, शिक्षाविद और शोधकर्ता व्याख्यान के साथ-साथ इंटरएक्टिव सेशंस आयोजित करेंगे. यह सत्र युवा मन में विज्ञान के प्रति जिज्ञासा और जुनून जगाने के लिए ही डिज़ाइन किए गए हैं. प्रतिभागियों को व्यावहारिक वर्कशॉप्स और एक्सपेरिमेंटस में शामिल होने का अवसर मिलेगा, जिससे उन्हें व्यावहारिक अनुभव और वैज्ञानिक अवधारणाओं की गहरी समझ मिलेगी. कैंप के दौरान मेंटरशिप प्रोग्राम होंगे, जहाँ छात्र विभिन्न वैज्ञानिक क्षेत्रों के विशेषज्ञों से आमने-सामने बातचीत कर मार्गदर्शन और करियर सलाह प्राप्त कर सकते हैं. यह प्रोग्राम मेंटर और छात्रों के बीच स्वस्थ बातचीत के लिए एक उपयुक्त मंच प्रदान करने जा रहा है. छात्रों को टॉप भारतीय वैज्ञानिक संस्थानों में उपलब्ध कई शोध क्षेत्रों और शोध सुविधाओं से अवगत कराया जाएगा. उल्लेखनीय है कि के.एम.वी. इस क्षेत्र का पहला कॉलेज था जो वर्ष 2011 में इंस्पायर कैंप आयोजित को किया था. पहला इंस्पायर कैंप आयोजित करने की यह पहल क्षेत्र के कई अन्य शैक्षणिक संस्थानों को प्रेरित कर रही है और उन्हें हमारे नेतृत्व का अनुसरण करने और इंस्पायर कैंप आयोजित करने के लिए प्रेरित कर रही है।

Check Also

आईकेजी पीटीयू में उचित वित्तीय निवेश योजना पर एक दिवसीय सेमिनार का आयोजन किया गया

पैसे को सही जगह निवेश करना, सही उपयोग के प्रति जागरूक रहना समय की मांग …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *