केएमवी का गांधीयन स्टडीज़ सेंटर अपनी स्थापना से कर रहा महिलाओं को सशक्त

जालंधर (मोहित अरोड़ा) :- भारत की विरासत एवं आटोनॉमस संस्था, कन्या महाविद्यालय, जालंधर महिला शिक्षा एवं सशक्तिकरण के साथ-साथ सामाजिक सरोकारों में भी हमेशा आगे रहा है। इस संबंध में प्राचार्य प्रो अतिमा शर्मा द्विवेदी के कुशल मार्गदर्शन में महाविद्यालय सक्रिय रूप से विभिन्न सोशल आउटरीच गतिविधियों में शामिल रहा है। विभिन्न नवीन पहलों के साथ, कॉलेज ने सभी सेमेस्टर IV छात्रों के लिए एक वैल्यू एडेड प्रोग्राम के रूप में सोशल आउटरीच की शुरुआत की है, जिसमें छात्राओं को अध्यापकों के मार्गदर्शन में सामुदायिक सेवा में शामिल किया जाता है। इस वर्ष छात्राओं ने अनाथालयों, वृद्धाश्रमों का दौरा करने और विभिन्न सामाजिक मुद्दों पर वीडियो बनाने के अलावा गांवों में साक्षरता अभियान, पर्यावरण स्थिरता, चिकित्सा से संबंधित परियोजनाओं को पूरा किया । कालेज में वर्ष 2007 में यूजीसी द्वारा प्राप्त गांधीयन स्टडीज़ सेंटर इसी उदेश्शय को आगे बढ़ाने में कार्यरत्त है। इस सेंटर द्वारा प्राचार्या प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी के मार्गदर्शन में गरीब लड़कियों की शिक्षा, उन्हें व्यवसायिक कोर्स सिलाई-कढ़ाई व ब्यूटी पार्लर संबंधित ट्रेनिंग के माध्यम से गांव-गांव में महिला सशक्तिकरण की अलख जगाई जा रही है। के.एम.वी. के इसी सेंटर द्वारा वर्ष 2009 में बनारसी दास चेरीटेबल स्कूल अपनाया गया है जहां बच्चों की शिक्षा से संबंधित सामग्री कुर्सी, बैंच, स्टेशनरी, स्कूल बैग इत्यादि समय-समय पर उपलब्ध करवाए जाते है। के.एम.वी. द्वारा इस सेंटर द्वारा गुप्त दान महादान की संस्कृति को अनुसरित करते हुए कालेज कैम्पस के बाहर एम्पथी कार्नर शुरु किया गया है जिससे कालेज की छात्राओं व फैकल्टी मैंबरस में समाज के पिछड़े वर्गों के प्रति मानव सेवा का भाव पैदा किया जा सके। इस कार्नर के अंतर्गत छात्राओं एवं फैकल्टी मैंबरस द्वारा स्वइच्छा से कपड़े, जूते एवं खिलौने आदि दान किए जाते है जिन्हें जरुरतमंद रिक्शाचालक व बच्चे इस कार्नर से प्राप्त करते है। गांधीयन स्टडीज़ सैंटर के साथ विद्यालय के विभिन्न विभाग मिलकर इस कार्य को पूरी गम्भीरता के साथ कर रहे हैं। इसके साथ ही केएमवी के गांधीयन सेंटर द्वारा जालंधर के आस-पास के गांव इब्राहिमपुर, भतीजा आदि जैसे कई क्षेत्रों में पौधारोपण की मुहिम भी चलाई जा रही है। कालेज प्राचार्या प्रोफैसर अतिमा शर्मा द्विवेदी ने बताया कि कालेज महिलाओं के शिक्षित करने के साथ-साथ सामाजिक विकास के अन्य आयामों में भी भागीदारी कर रहा है इसी के तहत विकासपुरी क्षेत्र के पार्क को
अपनाया गया है। कालेज का उदेश्शय महिला शिक्षा के साथ-साथ छात्राओं में मानवीय व सांस्कृतिक मुल्यों के प्रति सोच पैदा करने के लिए गांधीयन स्टडीज़ सेंटर कार्यरत है। इसके साथ ही उन्होंने डा. मोनिका शर्मा, डीन, सोशल आऊट रीच द्वारा किए जाते प्रयत्नों की सराहना की।

Check Also

DAVIET के छात्र कल के विश्व नेता बनेंगे: देवदत्त शर्मा, जनरल मैनेजर एचआर, लार्सन और टुब्रो (L&T)

जालंधर (अरोड़ा) – डेविएट के छात्र प्रेरण कार्यक्रम 2024 की शुरुआत प्रेरणादायक रही क्योंकि एलएंडटी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *