जी.डी. गोयंका इंटरनेशनल स्कूल के परिसर में मनाया गया बैसाखी का त्योहार




Share


जालंधर (JJS) मोहित:- पंजाब को गुरुओं फकीरों की धरती कहा जाता है । यहाँ पर हर त्योहार बहुत धूमधाम से मनाया जाता है। सब त्योहारो में से बैसाखी पंजाब का महत्वपूर्ण त्योहार है । इस दिन सिखों के दशम पिता गुरु गोबिन्द सिंह जी ने 1699 में श्री आनंदपुर साहिब में खालसा पंथ की स्थापना की थी । इसे खेती का त्योहार भी कहा जाता है । किसान इस त्योहार को फसल काटने के उल्लास में मनाते है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज जी॰डी॰ गोयंका इंटरनेशनल स्कूल जालंधर ने भी अपने प्रांगण में इसी त्योहार से जुड़े एक रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में विद्यार्थियों ने भाषण व कविताएँ सुनाईं, नृत्य प्रस्तुत किया और बच्चों ने बड़ी ही खूबसूरती से मंच पर पंजाब का लोक नाच गिद्दा और भांगड़ा प्रस्तुत करते हुए सभी मेहमानों का मन मोह लिया । कार्यक्रम के अंत में विद्यालय के चेयरमेन टी॰ डी॰ दुआ जी ने सभी विद्यार्थियों, अध्यापकों और आए हुए सभी मेहमानों को बैसाखी की बधाई दी और आशा व्यक्त की कि यह त्योहार सभी के लिए खुशियाँ लेकर आएगा।

  • About Us

    Religious and Educational Newspaper of Jalandhar which is owned by Sarv Sanjha Ruhani Mission (Regd.) Jalandhar

  • Social With Us