कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जालंधर में रोजाना 5000 आरटी-पीसीआर टेस्ट किए जाएः घनश्याम थो | पराली को जलाने की घटनाएं रोकने के लिए कृषि व किसान भलाई विभाग ने कमर कसी | 15 कंपनियों ने रोजगार मेले में भाग लेकर युवाओं का नौकरी के लिए किया चयन | सेंट सोल्जर छात्रों ने तंदरुस्त हार्ट, तंदरुस्त जीवन का सन्देश देते हुए मनाया हृदय दिवस | के.एम.वी. के काउंसलिंग सेैल द्वारा छात्राओं के लिए इंटरएक्टिव सेैशन का आयोजन |

शिक्षा

सेंट सोल्जर छात्रों ने तंदरुस्त हार्ट, तंदरुस्त जीवन का सन्देश देते हुए मनाया हृदय दिवस

जालंधर:-  सेंट सोल्जर नर्सिंग ट्रेनिंग इंस्टीच्यूट के छात्रों ने तंदरुस्त हार्ट, तंदरुस्त जीवन का सन्देश देते हुए विश्व हृदय दिवस मनाया गया। प्रिंसिपल श्रीमती नीरज सेठी के दिशा निर्देशों पर छात्रों का हृदय दिवस का मुख्य मंतव पब्लिक को जागरूक करना था कि हर वर्ष पूरे विशव में मरने वालों की बढ़ी संख्या का कारण हार्ट से जुडी बीमारियाँ है। जिनका प्रमुख्य कारण है पर्यावरण फैक्टर्स जैसे कसरत ना करना, नशे का सेवन, स्मोकिंग, संतुलित आहार की कमी आदि है।  ज़ी.एन.एम छात्रों अमनप्रीत, नवनीत, रजनी, मनप्रीत, परमजीत आदि ने घरों से पोस्टर और स्लोगन बनाकर अपने हार्ट को तंदरुस्त रखने के लिए अच्छे आहार के साथ-साथ रोजाना व्यायाम करने को कहा। प्रिंसिपल श्रीमती सेठी ने छात्रों के प्रयास की सराहना करते हुए सभी को हृदय से सबंधित जानकारी को ज्यादा से ज्यादा फैलाने को कहा।

के.एम.वी. के काउंसलिंग सेैल द्वारा छात्राओं के लिए इंटरएक्टिव सेैशन का आयोजन

भारत की विरासत संस्था कन्या महाविद्यालय, आटोनॉमस संस्था, इंडिया टुडे मैगजीन तथा आऊटलुक मैगजीन के बेस्ट कॉलेजिस सर्वेक्षण 2020 में टॉप नेश्नल व स्टेट रैंकिंग प्राप्त, महिला सशक्तीकरण की सीट, कन्या महाविद्यालय, जालंधर के स्टूडेंट वैल्फेयर विभाग के अंतर्गत कार्यरत काउंसलिंग सैल के द्वारा एक विशेष प्रोग्राम का आयोजन करवाया गया जिसमें विद्यालय प्रिंसीपल प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी छात्राओं से संबोधित हुए। इस ऐतिहासिक एवं गौरवमयी संस्था का एक अभिन्न अंग बनने वाली सभी छात्राओं को मुबारकबाद देते हुए उन्होंने के.एम.वी. की अमीर विरासत एवं शानदार वर्तमान से सभी को वाकिफ करवाने के अलावा बताया कि के.एम.वी. कुल 19 कॉलेजों में से एक है, जिनको भारत की विरासत संस्था होने का सम्मान प्राप्त है। इसके साथ ही उन्होंने ऑटोनामस स्टेस एवं स्टाल कॉलेज स्टेटस जैसी बेमिसाल प्राप्तियों के बारे में भी जानकारी प्रदान की। छात्राओं से संबोधित होते हुए उन्होंने कहा कि प्रत्येक इंसान की जिंदगी में उच्च शिक्षा का खास महत्व होता है क्योंकि यह व्यक्ति को जिंदगी में फैसले लेने का जज्बा पैदा करने के साथ-साथ उसको उसकी क्षमता से वाकिफ करवाती हुई जिंदगी में तय किए गए उद्देश्यों को प्राप्त करने में मददगार साबित होती है। के.एम.वी. द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किए गए महत्वपूर्ण सुधारों के बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया कि 21वीं सदी की जरूरतों के अनुरूप सभी कोर्सों के सिलेबस को तैयार किया गया है। नए प्रोग्रामों के साथ-साथ कई प्रोफेश्नल ग्रोथ डिटेलमेंट तथा लाइफ स्किल प्रोग्राम छात्राओं के लिए संस्था में शुरु किए गए हैं। आगे बात करते हुए उन्होंने बताया कि छात्राओं के सर्वपक्षीय विकास के मद्देनजर यह जरूरी है कि उनके द्वारा विद्यालय में उपलब्ध प्रत्येक इनोवेटिव एवं वैल्यू एडिड प्रोग्रामों में भाग लेने के साथ-साथ संस्था की संस्कृति एवं परंपराओं के अनुसार अपने आप को ढाला जाए। छात्राओं को महामारी से उत्पन्न हुई चुनौतियों का डटकर सामना करने के लिए प्रेरित करने के साथ उन्होंने कहा कि के.एम.वी. प्रत्येक गंभीर चुनौती पर जीत हासिल कर एक विजेता के रूप में सबके सामने आता है। इसके साथ ही उन्होंने छात्राओं को पूरी गंभीरता के साथ अपनी ऑनलाइन क्लासेज लगाने की हिदायत दी और साथ ही संस्था की विरासत, इसके मिशन, यहां प्रदान की जाती सुविधाएं, स्कॉलरशिप, ऑन केंपस प्लेसमेंट, स्टेट-ऑफ-द-आर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर, वैल्यू एडिड प्रोग्रामों तथा ऑटोनामी की विशेषताओं को विस्तार सहित ब्यान किया। उन्होंने कहा कि यह सारे प्रोग्राम छात्राओं के सर्वपक्षीय विकास को केंद्र में रखकर ही बनाए गए हैं। अर्थपूर्ण  एवं महत्वपूर्ण यह सारे प्रोग्राम के.एम.वी. की छात्राओं के सकारात्मक भविष्य के लिए प्रतिबद्धता को दोहराते हैं। इसके साथ ही उन्होंने छात्राओं के साथ उचित मार्गदर्शन प्रदान करते हुए महत्वपूर्ण सिद्धांत सांझा किए। उल्लेखनीय है कि के.एम.वी. के काउंसलिंग सैल के द्वारा आयोजित होने वाली यह साप्ताहिक सेशनज प्रत्येक सोमवार को शाम 5.00 बजे आयोजित किए जाते हैं। ग्रुप काउंसलिंग के इलावा छात्राओं को व्यक्तिगत काउंसलिंग प्रदान करने के लिए हर एक समय अध्यापक मौजूद हैं। मैडम प्रिंसीपल ने इस सैशन के सफल आयोजन के लिए डॉ. मधुमीत, डीन, स्टूडेंट वैल्फेयर तथा साइकॉलाजी विभाग के प्राध्यापकों डॉ. शरणजीत कौर और श्रीमती सुरभि के साथ-साथ पूरी टीम के द्वारा किए गए प्रयासों की प्रशंसा की। डॉ. राधिका गुप्ता ने इस सैशन के दौरान संचालक की भूमिका अदा की।
 

एचएमवी ने आयोजित की फैक्टशाला इंडिया मीडिया लिटरेसी नेटवर्क वर्कशॉप

हंस राज महिला महाविद्यालय के पीजी विभागों मास कम्युनिकेशन एंड वीडियो प्रोडक्शन तथा मल्टीमीडिया की ओर से फैक्टशाला इंडिया मीडिया लिटरेसी नेटवर्क वर्कशॉप का आयोजन किया गया। इस वर्कशॉप के रिसोर्स पर्सन गुरु जम्बेश्वर यूनिवर्सिटी ऑफ़ साइंस एंड टेक्नोलॉजी हिसार हरियाणा के कम्युनिकेशन मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी विभाग के चेयरमैन प्रो. उमेश आर्य थे। प्राचार्या प्रो. डॉ. (श्रीमती) अजय सरीन ने उनका स्वागत किया तथा कहा कि इनफार्मेशन की गति को नियंत्रित करना कठिन है, ऐसे समय में इस समस्या को मीडिया एंड इनफार्मेशन लिटरेसी के माध्यम से कम किया जा सकता है। इस वर्कशॉप के माध्यम से लोगों में इनफार्मेशन लिटरेसी प्रतिस्पर्धा को विकसित किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि लोगों को मीडिया शिक्षित बनाने के क्षेत्र में ठोस कदम उठाये जाने की जरूरत है ताकि इनफार्मेशन एंड मीडिया संदेशों के समुद्र में आसानी से पार उतरा जा सके। मास कम्युनिकेशन विभाग की हेड श्रीमती रमा शर्मा ने प्रो. आर्य का स्वागत किया तथा उनका परिचय दिया। उन्होंने वर्कशॉप का संक्षिप्त परिचय भी दिया।
प्रो. उमेश आर्य ने कहा कि वर्तमान समय में जागरूकता की महत्ता बढ़ रही है लेकिन सही समाचार कैसे प्राप्त करे यह प्रश्न वही का वही है। पहले लिटरेसी को आईटी लिटरेसी ही माना जाता था पर इसमें मीडिया लिटरेसी भी शामिल होनी चाहिए। आज के समय में हर कोई जर्नलिस्ट है इसलिए फेक न्यूज़ से लडऩे की जिम्मेदारी भी हरेक की होनी चाहिए। फेक न्यूज़ को लोगों में भ्रान्ति पैदा करने के लिए बनाया जाता है। प्रो. आर्य ने कहा कि मीडिया लिटरेसी का अर्थ है फैक्ट तथा फिक्शन में अंतर को समझना। जब भी कोई सन्देश मिले तो 5 प्रश्न जरूर पूछे- इस सन्देश को किसने बनाया, इस सन्देश को क्यों बनाया गया, इस सन्देश का टारगेट कौन है, इसमें क्या जानकारी है एवं क्या नहीं है तथा इस सन्देश का रीडर पर क्या प्रभाव रहेगा। उन्होंने अपना सेशन काफी इंटरैक्टिव रखा तथा ऑनलाइन माध्यम से फीडबैक लेते रहे।
एक शिक्षण संसथान होने के नाते, मास कम्युनिकेशन तथा मल्टीमीडिया विभागों ने छात्राओं, फैकल्टी तथा प्रोफेशनल्स को इनफार्मेशन के प्रति जागरूक करने का बीड़ा उठाया। इस वर्कशॉप में  फेसबुक लाइव के माध्यम से 750 प्रतिभागियों ने भाग लिया। वर्कशॉप मॉडरेटर तथा डीन स्टूडेंट वेलफेयर डॉ.अंजना भाटिया ने सभी का धन्यवाद किया। उन्होंने मल्टीमीडिया विभागाध्यक्ष आशीष चड्ढा तथा टेक्निकल टीम सदस्यों विधु वोहरा तथा ऋषभ धीर का भी धन्यवाद किया।


 

के.एम.वी. भारत सरकार द्वारा प्राप्त करने वाला पंजाब का एकलौता महिला कॉलेज

  भारत की विरासत एवं ऑटोनॉमस संस्था, इंडिया टुडे मैगजीन के बेस्ट कॉलेजेस सर्वेक्षण 2020 तथा आउटलुक मैगजीन के सर्वेक्षण में टॉप नेशनल एवं स्टेट रैंकिंग प्राप्त, महिला सशक्तिकरण की सीट, कन्या महाविद्यालय पूरे पंजाब का इकलौता कॉलेज है जिसको  बायोटेक्नोलॉजी विभाग, भारत सरकार द्वारा स्टार स्टेटस के साथ सम्मानित किया जा चुका है। उल्लेखनीय है कि मौजूदा समय में 116 कॉलेज ऐसे हैं जिनको स्टार कॉलेज स्कीम के अन्तर्गत अंडर ग्रेजुएशन स्तर पर साइंस विषय को मजबूत एवं प्रसिद्ध बनाने के लिए रखा गया है तथा 29 कॉलेज ऐसे है जिनको यह स्टार स्टेटस प्राप्त है। कन्या महाविद्यालय के साइंस विभाग द्वारा विभिन्न महत्वपूर्ण गतिविधियों का आयोजन किया जाता रहता है जिनमें माइनर रिसर्च प्रोजेक्ट, सोशल एक्सटेंशन प्रोग्राम, इंडिस्ट्रियल ट्रेनिंग के साथ-साथ छात्राओं को पर्यावरण एवं सामाजिक मुद्दों के साथ संबन्धित विभिन्न पहलुओं के प्रति संवेदनशील बनाने के अलावा राष्ट्रीय स्तर की संस्थाओं में एजुकेशनल ट्रिपस, प्रसिद्ध वैज्ञानिकों द्वारा एक्सपर्ट टॉक, इनोवेटिव विधियों के द्वारा विषय का अध्यापन, लोगों में विज्ञान विषय को प्रसिद्ध करने के लिए विभिन्न गतिविधियां आदि शामिल है। इसके साथ ही साइंस  क्लबों के लिए विशेष ध्यान देने योग्य एवं महत्वपूर्ण विषयों से सम्बन्धित विभिन्न शॉर्ट एवं लॉन्ग टर्म गतिविधियों के साथ प्रोग्रामों की सरचना तैयार की जाती है। विज्ञान प्रसार भारती, डी.एस.टी. के अन्तर्गत रजिस्टर्ड कॉलेज का विक्रम साराभाई साइंस क्लब भी ब्रोज श्रेणी से सिल्वर श्रेणी में अपग्रेड किया गया है। उल्लेखनीय है कि पूरे पंजाब में से इस सिल्वर श्रेणी में कुल 148 क्लबों को ही मानता प्रदान की गई है। यह अपग्रेडेशन के.एम.वी. के विद्यार्थियों एवं फैकल्टी की शानदार कार्यगुजारी एवं प्राप्तिओं का सम्मान है। साइंस विभाग  की स्टेट ऑफ द आर्ट हाईटेक लैब में छात्राओं को प्रशिक्षण देने के साथ-साथ अनुभूति जैसी स्टूडेंट-स्टूडेंट मेंटरिंग वर्कशॉप का आयोजन भी समय-समय पर किया जाता  रहता है। छात्राओं द्वारा अपने रिसर्च प्रोजेक्ट पर किए गए कार्यों के परिणामों  को राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर की कॉन्फ्रेंसओं में भी पेश किया जाता है। इसके साथ ही राष्ट्रीय स्तर की संस्थाओं जैसे :- सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ प्लास्टिक इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, अमृतसर, डॉ. बी.आर. अंबेडकर नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, जालन्धर आदि में छात्राओं को इंटर्नशिप के लिए भेजा जाता है। गुजरात बोरोसिल लिमिटेड, भरुच, शुगर मिल, भोगपुर, वी.आई.पी. इन, अमृतसर, पुखराज ऑर्गेनिकस, जालन्धर आदि संस्थाओं में छात्राएं इंडस्ट्रियल एक्सपोर्टर कम ट्रेनिंग प्राप्त करती है इसके अलावा उनके शोध के दायरे को और अधिक विशाल करने के मकसद के साथ उन्हेें फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट, देहरादून, कार्बेट नेशनल पार्क, उत्तराखंड, सेंट्रल रिसर्च इंस्टीट्यूट, कसौली, सेंट्रल साइंटिफिक एंड इंस्ट्रूमेंटेशन ऑर्गेनाइजेशन, चंडीगढ़ आदि में फील्ड विजिट के लिए भी लेकर जाया जाता है। विद्यालय प्रिंसीपल प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने साइंस विभाग के प्राध्यापकों एवं छात्राओं को इस सफलता के लिए मुबारकबाद दी और बताया कि 1950 से लगातार चल रहे के.एम.वी. के साइंस विभाग में मौजूदा समय में एम.एस.सी. फिजिक्स, एम.एस.सी. केमेस्ट्री, एम.एस.सी. मैथमेटिक्स, एम.एम.सी. जूलॉजी, एम.एस.सी. बॉटनी, बी.एस.सी. मेडिकल, बी.एस.सी. नॉन मेडिकल, बी.एस.सी. बयो टेक्नोलॉज (प्रोफेशनल), बी.एस.सी. ऑनर्स फिजिक्स, बी.एस.सी. ऑनर्स मैथमेटिक्स, पी.जी. डिप्लोमा इन न्यूट्रिशन एंड डाइटेटिक्स तथा सर्टिफिकेट कोर्स इन वैदिक मैथमेटिक्स जैसे अंडर ग्रेजुएट एवं पोस्ट ग्रैजुएट प्रोग्राम को सफलतापूर्वक चलाया जा रहा है। इसके अलावा कॉलेज को साइंस एंड टेक्नोलॉजी विभाग भारत सरकार के द्वारा फिसट ग्रांट भी प्राप्त हो चुकी है। इफसट स्कीम के अंतर्गत कॉलेज में अत्याधुनिक उपकरणों:- जैसे एफ.टी.आई.आर. यू.वी. विजिबल स्पेक्ट्रम, ई.टए.सी.ई. पी.ए. अल्फा काउंटिंग सिस्टम आदि के साथ लैस हाइटेक रिसर्च लैबस की स्थापना की गई है। फैकल्टी के द्वारा विभिन्न रिसर्च प्रोजेक्टस के ऊपर काम करने के साथ-साथ पी.एच.डी. स्कॉलरका को भी गाइड किया जाता है। इसके साथ ही रिसर्च स्कॉलर्स को अंतराष्ट्रीय प्रोजेक्ट में काम करने का अवसर भी प्रदान करवाया जाता है। हाल ही में आईसी.टी.पी. फेलोशिप तथा ई.एन.ई.ए., इटली के अंतर्गत अब्दुल सलाम इंटरनेशनल सेंटर फॉर थियोरेटिकल फिजिक्स में दो रिसर्च स्कॉलर द्वारा अपने प्रोजेक्ट सम्पूर्ण किए गए हैं। पिछले 10 वर्षों से लगातार के.एम.वी. द्वारा इनोवेशन इन साइंस परस्यूट फॉर इंस्पायर्ड रिसर्च इंस्पायर प्रोग्राम का आयोजन भी लगातार किया जा रहा है। के.एम.वी. द्वारा इन्नोवेशन हब की स्थापना की गई है जहां विद्यार्थियों को पुस्तक के ज्ञान के साथ-साथ विज्ञान विषय की व्यावहारिक जानकारी भी प्रदान करवाई जाती है। इसके अलावा विभिन्न स्कूलों के बच्चों द्वारा भी इन्नोवेशन हब में दौरे  के दौरान विभिन्न विज्ञान से सम्बन्धित अवधारणाओं की जानकारी प्राप्त की जाती है। यह सारे महत्वपूर्ण कार्य विद्यालय द्वारा छात्राओं के सर्वपक्षीय विकास के लिए किए जाते प्रयत्नों की गवाही देते हैं।
 

लायलपुर खालसा कॉलेज फॉर वूमेन में एनसीसी की इनरोलमेंट ड्राइव आयोजित

जालंधर/अरोड़ा - लायलपुर खालसा कॉलेज फॉर वूमेन में दो पंजाब गर्ल्स बटालियन एनसीसी जालंधर की ओर से कोविड के सुरक्षा नियमों का पूरा पालन करते हुए सेशन 2020-21 के लिए एनसीसी ड्राइव का आयोजन किया गया । सभी प्रतिभागियों  ने स्वयं को को ऑनलाइन माध्यम से पहले से ही रजिस्टर करवाया था तथा फाइनल चयन प्रक्रिया दो भागों में विभाजित करके दो दिनों में कॉलेज के प्रांगण में आयोजित की गई । इस अवसर पर प्रिंसिपल डॉक्टर नवजोत ने कमांडिंग अफसर कर्नल नरेंद्र तूर तथा एडमिन अफसर मेजर प्रतिमा का स्वागत किया। कर्नल ने फिटनेस कम्युनिकेशन स्किल्स तथा क्षमताओं के आधार पर विद्यार्थियों का चयन किया तथा चुनी गई छात्राओं को बधाई दी । कॉलेज लेफ्टिनेंट रूपाली राजदान ने उनका इस आयोजन को कॉलेज में करने तथा छात्राओं को प्रेरित करने के लिए धन्यवाद दिया।

एच.एम.वी. में शहीद भगत सिंह की 113वीं वर्षगांठ मनाई

हंसराज महिला महाविद्यालय, जालंधर के हिस्ट्री विभाग की ओर से शहीद भगत सिंह जी की 113वीं वर्षगांठ को समर्पित ऑनलाइन विशिष्ट कार्यक्रम का आयोजन संस्था प्राचार्या प्रो. डॉ. (श्रीमती) अजय सरीन जी के प्रोत्साहनात्मक दिशा-निर्देशन अधीन किया गया। इस अवसर पर हिस्ट्री विभागाध्यक्षा श्रीमती प्रोतिमा मंडेर के संरक्षण में छात्राओं को शहीद भगत सिंह जी के जीवन को प्रस्तुत करती पीपीटी दिखाई गई। छात्राओं ने इस कार्यक्रम में पूर्ण उत्साह से सहभागिता की एवं क्रान्तिकारी भावों पर खुलकर अपने विचार व्यक्त किए।
प्राचार्या प्रो. डॉ. (श्रीमती) अजय सरीन जी ने हिस्ट्री विभागाध्यक्षा श्रीमती प्रोतिमा मंडेर के इस विलक्षण प्रयास हेतु उन्हें प्रोत्साहित किया एवं बधाई दी। उन्होंने कहा कि शहीद भगत सिंह जी का जीवन आज के युवा वर्ग के लिए प्रेरणास्त्रोत है। युवा वर्ग को उनके जीवन से शिक्षा ग्रहण कर अपने जीवन को उचित मार्ग प्रदान करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार छोटी सी आयु में शहीद भगत सिंह जी ने देश के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। यदि ऐसी ही देश भक्ति का भाव आज के युवा वर्ग में हो तो निश्चय ही देश प्रगति मार्ग पर अग्रसर हो सकता है।
हिस्ट्री विभागाध्यक्षा श्रीमती प्रोतिमा मंडेर ने भी छात्राओं को शहीद भगत सिंह जी के जीवन से प्रेरणा प्राप्त कर अपने जीवन में आत्मसात करने को कहा। उन्होंने बताया कि बी.ए. समैस्टर-5 की छात्राएं- कु. रोनिका, कु. श्रेया, कु. वरनजीत एवं कु. कीर्ति ने इस प्रस्तुति में पूर्ण उत्साह से भाग लिया एवं शहीद भगत सिंह के जीवन के महत्वपूर्ण पहलुओं को प्रस्तुत किया।



 

सीटी ग्रुप ने करवाई वर्चुअल एलुमनी मीट 2020, छात्रों ने याद किए कॉलेज के पुराने दिन

जालंधर:
कॉलेज के दिन जिंदगी के सबसे हसिन दिनों में से होते हैं। इन दिनों ना काम की टैंशन होती है ना पैसे कमाने की दौड़। यही वजह है कि हर कोई कॉलेज के दिनों को एक बार फिर से जीना चाहता है। इस बात को मध्य नकार रखते हुए सीटी ग्रुप ने वर्चुअल एलुमनी मीट 2020 का आयोजन करवाया ताकि छात्र अपने कॉलेज के दिनों को एक बार से याद कर सके। वर्चुअल एलुमनी मीट 2020 में सीटी ग्रुप ऑफ इंस्टीट्युशंस नॉर्थ कैंपस मकुसदां और साउथ कैंपस शाहपुर के लगभग 400 से भी ज्यादा विद्यार्थियों ने भाग लिया।
इस दौरान छात्रों ने कॉलेज में बिताए दोस्तों, अध्यापकों के साथ बिताए पलों के बारे में बताया। इस मेगा इंवेट को आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य सीटी एलुमनी के लिए एक सामान्य ई-प्लेटफॉर्म प्रदान करना था, जहां देश-विदेश में बसे पूर्व छात्र अपने क्षणों को, दोस्तों, शिक्षकों से जुड़ी यादों को फिर से सजो सके।
वर्चुअल एलुमनी मीट की शुरूआत मॉडरेटर सीटी ग्रुप के पी.आ.रो कंवरप्रीत सिंह ने किया। वहीं सीटी ग्रुप के चेयरमैन चरणजीत सिंह चन्नी, साउथ कैंपस के डायरैक्टर डॉ.जीएस कालड़ा, नार्थ कैंपस की डायरैक्टर डॉ.जसदीप कौर धामनी ने प्रेरणादायक शब्दों से छात्रों का स्वागत किया। छात्रों के मनोरंजन के लिए पूर्व छात्र गौरी चौधरी, जसकरणदीप और साहिल ने लाइव परफॉर्मेंस दी। सीटी ग्रुप के सेंटर ऑफ हैप्पीनैस एंड वैल बिंइग की हैड अमृत क्लसी ने छात्रों को खुश रहने की आवश्यकता पर बातचीत की।
प्रतिष्ठित पदों पर पर बैठ सीटी के पूर्व छात्रों ने अपनी सफलता की कहानियां सांंझा की। इसमें पुणे से बलजोत कौर,ऑस्ट्रेलिया से रणजोध सिंह, यूएई से अमनदीप, कनाडा से नवनीत कौर, कनाडा से मनप्रीत सिंह आदि शामिल थे।
बीटैक सीएसई के पहले बैच (2004-2008) के पूर्व छात्रों में से एक बलजोत कौर ने कहा कि वह  सीटी ग्रुप का हिस्सा बनकर खुद को खुशकिस्मत मानती हूं। आज मैं जो भी हूं, वह सिर्फ अपने शिक्षकों और दोस्तों के नियमित मार्गदर्शन के कारण हूं।
ऑस्ट्रेलिया के एक अन्य पूर्व छात्र रणजोध सिंह ने कहा कि  सीटी को मैं अद्धुत शब्द में परिभाषित कर सकता हूं। मेरे आगे बढऩे और सफल होने में सीटी ग्रुप का बहुत बढ़ा हाथ हैं।
मुख्य आकर्षण दुबई से भांगड़ा क्रू टीम द्वारा किया गया लाइव भांगड़ा प्रदर्शन रहा हो जो एक पूर्व छात्र के स्वामित्व में है।
सीटी ग्रुप के चेयरमैन चरणजीत सिंह चन्नी, को-चेयरपर्सन परमिंदर कौर चन्नी, मैनेजिंग डायरैक्टर मनबीर सिंह, वाइस चेयरमैन हरप्रीत सिंह ने पूर्व छात्रों का वर्चुअल एलुमनी मीट 2020 में आने के  लिए आभार व्यक्त किया और भविष्य में उनकी सफलता के लिए कामना की।
सीटी ग्रुप के मैनेजिंग डायरैक्टर मनबीर सिंह ने कहा कि आज का समय ऑनलाइन का है। वर्चुअल एलुमनी मीट 2020 भी उन्हीं में से एक है। इस मीट उन सब छात्रों ने भाग लिया जो कोविड -19 के कारण देश -विदेश से नहीं आ सकते थे।


जन्म दिन पर शहीद भगत सिंह को किया याद

 होशियारपुर:  सेंट सोल्जर डिवाइन पब्लिक स्कूल में आज शहीद भगत सिंह का जन्म दिन मनाया गया। इस मौके छात्रों ने घरों में रहते हुए शहीद-ए-आजम सरदार भगत सिंह का भेष धारण कर ओर पोस्टर बनाकर उन्हें सलाम किया। इस अवसर पर वाइस चेयरपरसन श्रीमती संगीता चोपड़ा ने छात्रों ने नाम अपने संदेश में कहा कि शहीद देश का गौरव होते है। सरदार भगत सिंह ने देश को समर्पित हो कर आजादी के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया था। उन्होंने ने कहा निरसंदेह आज हम आजाद हैं पर हमारे समाज को बहुत सारी कुप्रथायों ने जकड़ रखा है। आज देश में गरीबी, आर्थिक ना-बराबरी, भ्रष्टाचार ओर सांप्रदायिकता का बोलबाला है। इनसे आजादी दिलाने के लिए आज के युवा विद्यार्थी वर्ग को आगे आना चाहिए। उन्होंने छात्रों को भगत सिंह के बलिदान से प्रेरणा लेते हुए देश की उन्नति में अपना योगदान देने के लिए प्रेरित किया।
 
 

स्किल्ड कोर्सेज के लिए छात्राओं की पहली पसंद बना एचएमवी- प्राचार्या डॉ. सरीन

-एनएसक्यूएफ के अंतर्गत पीएचडी करवाने वाला उत्तर भारत का एकमात्र कॉलेज बना एचएमवी

जालंधर/मोहित - भारत देश के युवाओं को स्किल्ड बनाने की ओर तेज़ी से बढ़ रहा है! देश का भविष्य स्किल्ड युवाओं के हाथों में होगा। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हंस राज महिला महा विद्यालय यूजीसी की कौशल केंद्र स्कीम के अंतर्गत कई स्किल कोर्सेज करवा रहा है। प्राचार्या प्रो. डॉ. अजय सरीन ने बताया कि मल्टीमीडिया एंड डिज़ाइन में पीएचडी करवाने वाला एचएमवी उत्तर भारत का एकमात्र कॉलेज बन गया है। पीएचडी के अतिरिक्त डीडीयू कौशल केंद्र के अधीन एचएमवी में कई स्किल कोर्सेज करवाए जा रहे है। नए कोर्स सेशन 2020-21 से ही आरम्भ होंगे। इनमें एमवॉक मेन्टल हेल्थ काउन्सलिंग, बी.वॉक इन मैनेजमेंट एंड एंट्रेप्रेन्योरशिप, डिप्लोमा इन कम्युनिकेशन स्किल्स, डिप्लोमा इन एप्लाइड म्यूजिक एंड डांस तथा डिप्लोमा इन कुकिंग एंड कैटरिंग मैनेजमेंट शामिल है।

प्राचार्या डॉ. सरीन ने बताया कि एचएमवी में पहले से ही बी.वॉक तथा एम.वॉक कोर्स चलाये जा रहे है। इनमें एम.वॉक. इन वेब टेक्नोलॉजी एंड मल्टीमीडिया, कॉस्मेटोलॉजी एंड वैलनेस, बी.वॉक. इन मेन्टल हेल्थ एंड काउन्सलिंग, जर्नलिज्म एंड मीडिया, फैशन टेक्नोलॉजी, कॉस्मेटोलॉजी एंड वैलनेस, वेब टेक्नोलॉजी एंड मल्टीमीडिया, बैंकिंग एंड फाइनेंसियल सर्विसेज, योगा एंड फिटनेस, इ-कॉमर्स एंड डिजिटल मार्केटिंग शामिल है। कॉलेज में कम्युनिटी कॉलेज स्कीम के अंतर्गत डिप्लोमा तथा एडवांस डिप्लोमा भी चल रहे है। इन में डिप्लोमा इन मेडिकल  लैब टेक्नॉलजी, टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी, जर्नलिज्म एंड मीडिया, नैनी एंड एल्डर्ली हेल्थ केयर तथा एडवांस डिप्लोमा इन फैशन डिजाइनिंग शामिल है। उन्होंने बताया कि कॉलेज ने इन कोर्सेज का सिलेबस इंडस्ट्री की जरूरतों के अनुसार डिज़ाइन किया है जिसे यूनिवर्सिटी की मान्यता प्राप्त है। कॉलेज ने छात्राओं की ट्रेनिंग के लिए इंडस्ट्री के साथ साथ मीडिया एंड एंटरटेनमेंट सेक्टर स्किल कौंसिल के साथ एमओयू किया हुआ है।

कम्युनिटी कॉलेज कोऑर्डिनेटर मिनाक्षी स्याल ने बताया कि इन कोर्सेज में अधिक ज़ोर प्रैक्टिकल काम पर दिया जाता है। इनमें मल्टी एंट्री तथा एग्जिट की सुविधा उपलब्ध है तथा किसी भी उम्र की महिला एडमिशन ले सकती है। यदि कोई महिला या लडक़ी किसी क्षेत्र में पहले से ही काम कर रही है तथा सेक्टर स्किल कौंसिल की सर्टिफिकेशन चाहती है तो यह कोर्सेज सही चुनाव साबित होंगे। इनका फी स्ट्रक्चर भी बहुत कम है तथा डिप्लोमा कोर्सेज का टाइम टेबल भी फ्लेक्सिबल है। उन्होंने कहा कि इन कोर्सेज के बाद छात्राओं को ग्रेजुएशन के बाद भी जॉब मिल सकती है। इनका दोहरा फायदा भी रहेगा, छात्राओं को यूनिवर्सिटी की डिग्री के साथ साथ स्किल कौंसिल की सर्टिफिकेशन भी मिलेगी जोकि ग्लोबल स्तर पर मान्यता प्राप्त है। प्राचार्या सरीन ने बताया कि कॉलेज के पास क्वालिफाइड फैकल्टी है जो स्किल कोर्सेज को करवाने में कोई कसर नहीं छोड़ते। इन सब कारणों से एचएमवी स्किल कोर्स के लिए बेहतरीन कॉलेज है।

सेंट सोल्जर की ओर से मनाया गया 'बेटी दिवस'

जालंधर/तरुण - बेटियों को मां दुर्गा और मां लक्ष्मी का रुप माना जाता है। हर घर में बेटों से ज्यादा बड़ा दर्जा बेटियों को दिया जाता है। हालांकि बेटियों के होने की खुशी एक दिन नहीं बल्कि साल के पूरे दिन मनाई जानी चाहिए। यह विचार सेंट सोल्जर ग्रुप ऑफ़ इंस्टीच्यूशन्स की ओर से आनलाइन मनाए गए 'विश्व बेटी दिवस' पर वाईस चेयरपर्सन संगीता चोपड़ा की ओर से प्रकट किए। उन्होंने ने कहा कि डॉटर्स डे मनाने का एक खास वजह ये भी है कि लोगों को बेटियों और लड़कियों के प्रति जागरूक करना। बेटियां किसी भी तरह से बेटों से कम नहीं है, जरूरत है तो उनको बेटों के बराबर अवसर प्रदान करने की। इस मौके पर स्कूल प्रिंसिपल सतविंदर कौर ने कहा कि आमतौर पर भारत में अभी लड़कियों को लेकर लोगों की मानसिकता में उतना ज्यादा विकास नहीं हुआ है इस वजह से भी लोगों की इस सोच में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए ये दिवस मनाया जाता है। श्रीमती चोपड़ा ने लड़कियों की शिक्षा पर जोर देते हुए सभी अभिभावकों कों बेटियों को बेटों के बराबर अवसर प्रदान करने की अपील की।

  • About Us

    Religious and Educational Newspaper of Jalandhar which is owned by Sarv Sanjha Ruhani Mission (Regd.) Jalandhar

  • Social With Us