के.एम.वी. में एक दिवसीय फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम आयोजित

जालंधर (मोहित अरोड़ा) :- भारत की विरासत एवं ऑटोनॉमस संस्था, कन्या महा विद्यालय, जालंधर हमेशा प्राध्यापकों और छात्राओं के गुणवत्ता रिसर्च के माध्यम से बौद्धिक आधार विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध है. फैकल्टी तथा छात्राओं के बीच नैतिक अनुसंधान को बढ़ावा देने की एक और पहल में रिसर्च डेवलपमेंट सेंटर, के.एम.वी. ने इंटरनल क्वालिटी एश्योरेंस सेल के सहयोग से ड्रिलब्रिट प्लेगिरिज्म डिटेक्शन सॉफ्टवेयर के परिचय पर एक दिवसीय एफ.डी.पी. का आयोजन किया. इस एफ.डी.पी. का मुख्य उद्देश्य प्राध्यापकों एवं छात्राओं को विभिन्न नैतिकता को समझने की ओर उन्मुख करना था ताकि रिसर्च पेपर/ प्रोजेक्ट रिपोर्ट लिखते समय इसका अनुसरण किया जा सके. ड्रिलब्रिट टीम से मैडम नितिका वंजारी और श्री प्रकाश सचिन ने साहित्यिक चोरी का पता लगाने पर प्रकाश डालने वाले सॉफ्टवेयर के विभिन्न मॉड्यूल और अनुप्रयोगों के बारे में चर्चा की. रिसर्च पेपर लिखने में सहायक विभिन्न आई.सी.टी. टूल्स और शोध में विविध वैज्ञानिक पक्षयों पर चर्चा की गई. विद्यालय प्रिंसिपल प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने  विषय की महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने पर स्रोत वक्ता के प्रति आभार व्यक्त करते हुए इस सफल आयोजन के लिए डॉ. जितेंद्रपाल, डॉ. गोपी शर्मा तथा डॉ. नताशा के द्वारा किए गए  प्रयासों की प्रशंसा की।

Check Also

आईकेजी पीटीयू में उचित वित्तीय निवेश योजना पर एक दिवसीय सेमिनार का आयोजन किया गया

पैसे को सही जगह निवेश करना, सही उपयोग के प्रति जागरूक रहना समय की मांग …