एपीजे कॉलेज ऑफ फाइन आर्ट्स जालंधर में दूसरी वार्षिक विजुअल गाथा द फोटो स्टोरी प्रदर्शनी का आयोजन

जालंधर (अरोड़ा) :- एपीजे कॉलेज ऑफ़ फाइन आर्टस जालंधर निरंतर परफोर्मिंग एवं विजुअल आर्ट्स की प्रगति में अपना महत्वपूर्ण योगदान देता ही रहता है। इसी श्रृंखला में कॉलेज के एप्लाईड आर्ट विभाग द्वारा एपीजे सत्या एंड स्वर्ण ग्रुप तथा एपीजे एजुकेशन की अध्यक्ष तथा एपीजे सत्या यूनिवर्सिटी की चांसलर सुषमा पॉल बर्लिया के निर्देशन में दूसरी वार्षिक प्रदर्शनी’विजुअल गाथा द फोटो स्टोरी’ का आयोजन डॉ सत्यपाॅल आर्ट गैलरी में किया गया। इस प्रदर्शनी में मुख्य अतिथि के रूप में एपीजे सत्या यूनिवर्सिटी की प्रो वाइस चांसलर डॉ सुचरिता शर्मा उपस्थित हुई। प्राचार्य डॉ नीरजा ढींगरा ने डॉ सुचरिता शर्मा का अभिनंदन करते हुए कहा कि ललित कलाओं के प्रति पारखी नजर रखने वाले एवं उनके विकास में अपना अद्भुत योगदान देने में हमेशा अग्रणी, सौम्य एवं सुदृढ़ व्यक्तित्व की स्वामिनी की यहां उपस्थिति वास्तव में हमारे लिए सौभाग्य की बात तो है ही, उन्होंने कहा डॉ सुचरिता का आगमन निश्चित रूप से हमारे विद्यार्थियों को प्रोत्साहित एवं प्रेरित करने वाला होगा। डॉ ढींगरा ने इस प्रदर्शनी की सार्थकता के बारे में अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा की एप्लाइड आर्ट विभाग के 55 विद्यार्थी एवं टीचर्स मिलकर इस प्रदर्शनी में प्रतिभागिता कर रहे हैं। इस प्रदर्शनी का उद्देश्य उभरते कलाकारों को वह मंच प्रदान करना है जिसमें अपनी कला का प्रदर्शन करते हुए अनुभवी कलाकारों के निर्देशानुसार इसमें और निखार ला सके। इस प्रदर्शनी के माध्यम से टीचर्स एवं विद्यार्थियों ने विभिन्न विषयों जैसे लोग, प्रकृति, आर्किटेक्चर मार्वल, स्ट्रीट लाइफ, आध्यात्मिकता, देवत्व, मानवीय भावों एवं संघर्षों को तस्वीरों के माध्यम से बाखूबी व्यक्त करने का प्रयास किया है।

इस प्रदर्शनी में यात्रावृतांत ‘खोज’ के माध्यम से एप्लाईड आर्ट तथा डिजाइन विभाग के टीचर्स जो विभिन्न जगहों पर घूमने गए थे वहां की संस्कृति, लोगों के रहन-सहन, अपने अनुभव तथा कलात्मक खूबसूरती को कैमरे में कैद किया है उसको दिखाया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित डॉ सुचरिता शर्मा ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि हमारे संस्थापक अध्यक्ष डॉ सत्यपाॅल की प्रेरणा एवं उनकी सुपुत्री सुषमा पॉल की कला एवं संस्कृति को उन्नत करने के लिए जो दूरदर्शिता है उसके कारण ही कॉलेज के प्राध्यापकगण युवा पीढ़ी को कला के प्रत्येक पहलू को आत्मसात करने की प्रेरणा देते हैं। उन्होंने कहा विजुअल गाथा द फोटो स्टोरी में मानव मन के विभिन्न भावों एवं विभिन्न ऐतिहासिक स्थलों की जो सुंदर तस्वीर ली गई है वह वास्तव में सराहनीय एवं शिक्षा देने वाली है, उन्होंने कहा कि हर तस्वीर खींचने वाले के व्यक्तित्व एवं मन: स्थिति को भी व्यक्त करती है। उन्होंने विशेष सम्मान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को बधाई दी। इस प्रदर्शनी में सर्वश्रेष्ठ तस्वीरें क्लिक करने के लिए तरन्नुम को उसके द्वारा खींची गई तस्वीर ‘शिव कपाली’, तेगबीर सिंह को ‘विंग्स ओवर वॉटर’, जशन सैनी को ‘सेलिंग थ्रू सेरेनिटी’, नंदिनी हांडा को ‘इकॉज़ ऑफ़ द पास्ट: ए जर्नी थ्रू हिस्ट्री’, शिवालिका बांसल को ‘बिल्डिंगस, वॉटरी टविन’, एवं रक्षित राज को ‘सोक्ड इन सनलाइट’ तस्वीरों के लिए विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया गया। प्रदर्शनी की अपार सफलता के लिए प्राचार्य डॉ नीरजा ढींगरा ने मुख्य अतिथि डॉ सुचरिता शर्मा, इस प्रदर्शनी मे निर्णायक की भूमिका निभाने के लिए श्रेष्ठ जैन एवं हरमन,फोटोग्राफी क्लब जालंधर के अध्यक्ष कमलजीत भाटिया,जनरल सेक्रेटरी संदीप तनेजा एवं PRO श्री राज एवं फाउंडर मेंबर अरविंद्र पाल सिंह का भी आभार व्यक्त किया। प्रदर्शनी की अपार सफलता के लिए उन्होंने एप्लाइड आर्ट विभाग के अध्यक्ष अनिल गुप्ता, विक्रम एवं कुंज अरोड़ा के प्रयासों की सराहना की। यह प्रदर्शनी 14 में से शुरू होकर 17 मई तक सुबह 10:30 से 6:30 बजे तक चलेगी।

Check Also

सेंट सोल्जर कॉलेज (कोएड) के छात्र छू रहे हैं बुलंदियां

जालंधर (अजय छाबड़ा) :- सेंट सोल्जर कॉलेज (कोएड) में बढ़ रही रोज़गार की संभावनो और …