के.एम.वी. (ऑटोनॉमस) में दाखिले के लिए छात्राओं का भारी रश

के.एम.वी. में ऑटोनॉमस दर्जे के अंतर्गत न्यू एज इनोवेटिव प्रोग्रामों में शामिल होने के लिए छात्राएं उत्साहित

जालंधर (मोहित अरोड़ा) :- भारत की विरासत एवं ऑटोनामस संस्था, कन्या महाविद्यालय, जालन्धर में दाखिले के लिए छात्राओं का भारी रश देखा जा रहा है. 10+2 के नतीजों के बाद समूह छात्राओं के द्वारा के.एम.वी. की ओर से प्रदान किए जा रहे न्यू एज इनोवेटिव प्रोग्रामों में दाखिला लेने के लिए भारी उत्साह है. उल्लेखनीय है कि कन्या महा विद्यालय ने ऑटोनॉमस स्टेटस के अंतर्गत 21वी सदी की जरुरतों के अनुरूप जहां नवीनतम प्रोग्रामों की शुरुआत की गई है वहां साथ ही पुराने प्रोग्रामों के सिलेबस में जरूरी एवं महत्वपूर्ण बदलाव लाकर इन्हें अपग्रेड किया गया है. इसके साथ ही वैल्यू ऐडेड प्रोग्रामों को प्रत्येक सेमेस्टर में छात्राओं के लिए अनिवार्य बनाया गया है. इस संबंध में और अधिक जानकारी देते हुए विद्यालय प्रिंसीपल प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने बताया कि अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस स्टेट-ऑफ-दि-आर्ट इंफ्रास्ट्रक्चर के.एम.वी. में छात्राओं को प्रदान किया जाता है. इसके अलावा अंडर ग्रेजुएट स्तर के आखरी वर्ष की परीक्षाओं के खत्म होने के साथ ही के.एम.वी. में पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्रामों में दाखिला प्रक्रिया भी जोर पकड़ लेती है. एम.एस.सी. केमेस्ट्री, एम.एस.सी. जूलॉजी, एम.एस.सी. फिज़िक्स, एम.एस.सी. बॉटनी, एम.एस.सी. मैथमेटिक्स, एम.एस.सी. कंप्यूटर साइंस, एम.एस.सी. फैशन डिजाइनिंग, एम.ए.म्युजिक इंस्ट्रुमेंटल, एम.ए. म्यूजिक वोकल, एम.ए. डांस, एम.ए साइकॉलजी, एम.ए. कॉस्मेटोलॉजी, एम.ए. जनरलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन, एम.ए. इंगलिश, एम.ए. पंजाबी, एम.ए. हिंदी, एम.ए. फाइन आर्ट्स, एम.ए. इकोनॉमिक्स, एम.काम आदि जैसे पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्रामों  की एक बड़ी श्रृंखला कन्या महाविद्यालय द्वारा छात्राओं को प्रदान की जा रही है. इसके अलावा के.एम.वी. को बीकॉम (ऑनर्स), बीए (ऑनर्स) इंग्लिश, बीएससी (ऑनर्स) फिजिक्स, बीएससी (ऑनर्स) मैथ्स के 4 वर्षीय ऑनर्स डिग्री तथा 5 वर्षीय इंटीग्रेटेड ग प्रोग्राम्स वाले नए युग के कार्यक्रमों के लिए भी भारी प्रतिक्रिया मिल रही है.   उल्लेखनीय है कि कन्या महाविद्यालय द्वारा पहल कदमी करते हुए छात्राओं के लिए  बीएससी मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी, बी.बी.ए. एयरलाइंस और एयरपोर्ट मैनेजमेंट, बी.बी.ए. बिजनेस इन्नोवेशंस एंड एंटरप्रेन्योरशिप, पी.जी. डिप्लोमा इन रेडियो जोकिंग तथा बी.ए. डिजिटल आर्ट, डिज़ाइन एंड मल्टीमीडिया जैसे भारत सरकार से मान्यता प्राप्त नए स्किल डेवलपमेंट प्रोग्रामों  की भी शुरुआत की गई है. इसके साथ ही के.एम.वी. को भारत सरकार द्वारा प्राप्त डी.डी.यू. कौशल केंद्र के अंतर्गत चल रहे बी.वाक तथा एम.वाक स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम भी छात्राओं में विशेष आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं. इस केन्द्र के अंतर्गत चल रहे बी.वाक कोर्स एनिमेशन, रिटोल मैनेजमेंट, मैनेजमेंट एंड सेक्रेटेरियल प्रैक्टिस, टेक्सटाइल डिजाइन एंड अपैरल टेक्नोलॉजी, न्यूट्रिशन, एक्सरसाइज एंड हेल्थ, ब्यूटी एंड वैलनेस, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड डाटा साइंस तथा टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी के इलावा एम.वॉक प्रोग्राम एनीमेशन एंड वी.एफ.एक्स, रिटेल मैनेजमेंट तथा टैक्सटाइल डिजाइन एंड अपैरल टेक्नोलॉजी के लिए छात्राओं का भारी रश देखा जा रहा है. छात्राओं के दाखिले के समय उनकी करियर काउंसलिंग का होना ज़रूरी है क्योंकि इसके साथ ही उनकी संबंधित क्षेत्र में रुचि एवं योग्यता को ध्यान में रखते हुए उन्हें सही दिशा प्रदान की जाती है. आगे बात करते हुए उन्होंने कहा कि मौजूदा युवा पीढ़ी अपनी जिंदगी में कुछ महत्वपूर्ण एवं सकारात्मक करने के लिए वचनबद्ध है तथा वह विश्व स्तरीय एक्स्पोजर प्राप्त करने के लिए न्यू एज इनोवेटिव प्रोग्रामों में दाखिला लेने के लिए ज्यादा दिलचस्पी रखते हैं. छात्राओं के सर्वपक्षीय विकास के लिए प्रतिबद्ध संस्था के.एम.वी. के द्वारा उनको अपने ज्ञान के दायरे को और अधिक विशाल करने के साथ-साथ अपने मकसद की प्राप्ति के लिए बेशुमार अवसर प्रदान करवाए जाते हैं।

Check Also

सेंट सोल्जर कॉलेज (कोएड) के छात्र छू रहे हैं बुलंदियां

जालंधर (अजय छाबड़ा) :- सेंट सोल्जर कॉलेज (कोएड) में बढ़ रही रोज़गार की संभावनो और …