के.एम.वी. द्वारा रिसर्च एथिक्स एंड प्लेजिरिज्म विषय पर रिसर्च फोरम आयोजित

जालंधर (मोहित अरोड़ा) :- भारत की विरासत एवं ऑटोनॉमस संस्थान कन्या महा विद्यालय, जालंधर के द्वारा फैकेल्टी और छात्राओं में गुणवत्तापूर्ण रिसर्च एवं एथिकल प्रैक्टिसिज़ को बढ़ावा देने के उद्देश्य से, रिसर्च डेवलपमेंट सेंटर के द्वारा इंटरनल क्वालिटी एश्योरेंस सेल के साथ मिलकर रिसर्च फोरम आ आयोजित करवाया गया.  इस दौरान रिसर्च एथिक्स एंड प्लेजिरिज्म विषय के साथ डॉ. धन्वंतरि प्रकाश त्रिपाठी, डिप्टी लाइब्रेरियन, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, जालंधर स्रोत वक्ता  के रूप में उपस्थित हुए. अपनी संबोधन के दौरान डॉ. त्रिपाठी ने नैतिक अनुसंधान आउटपुट को प्रोत्साहित करने वाले कदमों की श्रृंखला पर प्रकाश डाला. उन्होंने  एक्सपेरिमेंट डिज़ाइन, डेटा विश्लेषण, डेटा इंटरप्रिटेशन में पक्षपात से बचने पर ज़ोर दिया और साहित्यिक चोरी, निर्माण, मिथ्याकरण, डेटा एकत्रण और कुछ अन्य सहित शोध में अकादमिक कदाचार के क्षेत्रों के बारे में बात की. उन्होंने आगे कहा कि एथिकल रिसर्च गतिविधियों में छात्राओं की भागीदारी से उनके ज्ञान कौशल में वृद्धि होगी. इसके अलावा इस फोरम के दौरान विद्यालय की पोस्ट ग्रेजुएट केमिस्ट्री विभाग के  द्वारा की गई शोध पहलों पर एक विस्तृत प्रस्तुति भी शामिल थी. विभाग अध्यक्षा डॉ. मंजू साहनी ने केमिस्ट्री विभाग का परिचय देते हुए विभाग के  रिसर्च ग्रांट्स, आयोजित कार्यक्रमों, पी.एच.डी., आई.पी.आर. और रिसर्च पब्लिकेशंस आदि पर प्रकाश डाला. इसके अलावा उन्होंने विभाग की उपलब्धियों से भी अवगत कराया. इसके बाद डॉ. नरिंदरजीत कौर ने फैकेल्टी प्रोफाइल पढ़ते हुए उनके अंतर्राष्ट्रीय/राष्ट्रीय पुरस्कारों और प्रशंसाओं से सभी को अवगत करवाया.  विद्यालय प्रिंसिपल प्रोफेसर प्रतिमा शर्मा द्विवेदी ने विषय की महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने के लिए स्रोत वक्त के प्रति आभार व्यक्त करने के साथ-साथ शोध के क्षेत्र में केमिस्ट्री में विभाग द्वारा डाली जा रहे योगदान एवं इस रिसर्च फॉर्म के आयोजन के लिए डॉ. जितेंद्रपाल, डॉ. गोपी शर्मा तथा डॉ. नताशा के द्वारा किए गए प्रयत्नों की प्रशंसा की।

Check Also

आईकेजी पीटीयू में उचित वित्तीय निवेश योजना पर एक दिवसीय सेमिनार का आयोजन किया गया

पैसे को सही जगह निवेश करना, सही उपयोग के प्रति जागरूक रहना समय की मांग …