डिप्स स्कूल सूरानुस्सी मेंलगाया ट्रैफिक जागरूकता सेमिनार

जालंधर (अरोड़ा) :- जालंधर ट्रैफिक पुलिस टीम ने सड़क सुरक्षा बढ़ाने और जिम्मेदार ड्राइविंग को बढ़ावा देने के समर्पित प्रयास मेंआज डिप्स सूरानुस्सी, मकसूदां में ट्रैफिक नियम जागरूकता पर छात्रों के लिए एक सेमिनार का आयोजन किया। कार्यक्रम का प्राथमिक उद्देश्य छात्रों को सड़कों पर सुरक्षित प्रथाओं को अपनाने के लिए शिक्षित करना और संलग्न करना था, जिसमें छात्रों को ओवरस्पीडिंग से बचने की सलाह देने पर विशेष जोर दिया गया था। सेमिनार मेंसब इंस्पेक्टर सुखजिंदर सिंह खेड़ा ने अपनी टीम के साथ नौवीं से बारहवीं कक्षा के छात्रों को वर्तमान समय की चुनौतियों जैसे नशे की लत, सोशल मीडिया के बुरे प्रभाव और युवा पीढ़ी द्वारा यातायात नियमों की अनदेखी पर संबोधित किया।सब इंस्पेक्टर सुखजिंदर सिंह ने इस बात पर जोर दिया कि हेलमेट पहनने से न केवल जुर्माने से बचने में मदद मिलती है बल्कि यह जीवन बचाने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि सड़क सुरक्षा पहल जिम्मेदार ड्राइविंग की संस्कृति को बढ़ावा देने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम हैं।छात्रों ने नियमों के पालन के महत्व को समझा और उल्लंघन के परिणामों को समझा। प्रिंसिपल रेणुका गुलेरिया ने इस नेक पहल के लिए प्रबंधन की ओर से अधिकारियों को धन्यवाद किया और कहा कि जागरूकता बढ़ाना और विद्यार्थियों को शिक्षित करना, सभी के लिए एक सुरक्षित और सुरक्षित सड़क वातावरण बनाने में महत्वपूर्ण योगदान देता है।उन्होंने विद्यार्थियों को बताया कि वाहन चालक ही नहीं बल्कि पैदल राहगीरों को भी ट्रैफिक नियमों का पालन करते हुए सड़क के बीचो-बीच नहीं चलना चाहिए। इसी प्रकार सड़क पार करते समय पहले सड़क की दोनों तरफ देखें फिर अगर कोई वाहन ना आ रहा हो तभी सड़क पार करें। डिप्स चेन के एमडी सरदार तरविंदर सिंह और सीईओ मोनिका मंडोत्रा ने कहा किवाहन चालकों की तरह विद्यार्थियों को भी ट्रैफिक नियमों का पालन करना चाहिए। ट्रैफिक नियमों का पालन कर हम अपने आप को सड़क दुर्घटनाओं से बचा सकते हैं। उन्होंने कहा कि नियमों का पालन करना हर नागरिक का कर्तव्य बनता है और ट्रैफिक नियमों का पालन कर बड़ी से बड़ी सड़क दुर्घटना को टाला जा सकता है।डिप्स की यह पहल सामुदायिक कल्याण के प्रति उसकी प्रतिबद्धता को दर्शाती है और सभी के लिए एक सुरक्षित और सुरक्षित सड़क वातावरण बनाने के व्यापक प्रयासों के अनुरूप है।

Check Also

सेंट सोल्जर कॉलेज (कोएड) के छात्र छू रहे हैं बुलंदियां

जालंधर (अजय छाबड़ा) :- सेंट सोल्जर कॉलेज (कोएड) में बढ़ रही रोज़गार की संभावनो और …